अप्रैल फूल की हमारी ज़िन्दगी में क्या अहमियत है ?

                                        अप्रैल फूल की हमारी ज़िन्दगी में क्या अहमियत है ?
आज के दौर में जब हमारे पास नाइक काम करने का बिलकुल मुक़ा नहीं होता ऐसे  वक़्त में हम हसी मज़ाक में गुनाहे कबीरा के मुस्तहक़ हो जाते है। ऐसे में आज हमारे समाज में जिस बीमारी की वबा फैली है जिसमे हम सब जकड़े है उसे हम झूट कहते है जिसके बारे में क़ुरान का खुला ऐलान है। झुटो पे अल्ल्हा की लानत फिर बी हम हस्ते खिलते इस गुनाह को इंजाम देते है और हमारे चहरे पे शिकन तक नहीं आती  है ये अफ़सोस की बात की हम अल्ल्हा किम लानत के मुस्तहक़ हो गये। झूट से न सिर्फ इंसान लानत का मुस्तहक़ होता है बल्कि लोगो के जज़्बात से खिलवाड़ किया है और आज हमने उसी का नाम अप्रैल फूल आँख दिया ये हमारे दुश्मनो की इक शाजिश थी जिसमे आज ही के दिन सैकड़ो मुसलमान मौत के घाट उतर दिए  से इसे इक जश्न की तरह मनाया जाता है [हमें किये की हम अपने समाज से इन बीमारियो को निकाल दे और अल्ल्हा की लानत के मुस्तहक़ न बने 

1 Comments

  1. ये post आप को kaisi लगी ज़रूर बताये

    ReplyDelete
Previous Post Next Post