सऊदी सरकार अपनी उम्र की आख़री मंज़िल मे पहुंच चुका है.. हसन नसरूलहा...

सऊदी सरकार अपनी उम्र की आख़री मंज़िल मे पहुंच चुकी है.. हसन नसरूलहा...







  • हिज़्बुल्लाह प्रमुख हसन नसरुल्लाह इस्लामी क्रान्ति के वरिष्ठ नेता के कार्यालय से इंटरव्यू के दौरान जो 22 सितंबर 2019 को प्रसारित हुआ
लेबनान के प्रतिरोध संगठन हिज़्बुल्लाह के प्रमुख ने कहा है कि सऊदी शासन अपनी उम्र के अंतिम चरण में पहुंच गया है और मौजूदा शासक की नीतियों की वजह से इस शासन के अंत की रफ़्तार तेज़ हो गयी है।
सय्यद हसन नसरुल्लाह ने आले सऊद शासन की क्षेत्र में अन्यायपूर्ण कार्यवाहियों और उसको होने वाली नाकामियों की ओर इशारा करते हुए कहा कि अब यह शासन बूढ़ा हो चुका और अपने जीवन के अंतिम दौर में है।
समाचार एजेंसी फ़ार्स के अनुसार, सय्यद हसन नसरुल्लाह ने आयतुल्लाहिल उज़्मा ख़ामेनई की रचनाओं का प्रकाशन करने वाले विशेष विभाग से इंटरव्यू में कहा कि सऊदी अरब के फ़िलिस्तीन के ख़िलाफ़ दृष्टिकोण, सेन्चरी डील का समर्थन करना और ट्रम्प के सामने लज्जाजनक रवैये से सऊदी अधिकारियों की धाक पर सवाल उठ रहे हैं जो विगत में ख़ुद के स्वाधीन होने का दावा करते थे।
उन्होंने ईरान से सऊदी अरब की दुश्मनी की ओर इशारा करते हुए कहा कि इस दुश्मनी की वजह ईरान की ओर से प्रतिरोध और फ़िलिस्तीन के प्रति समर्थन है।
सय्यद हसन नसरुल्लाह ने इस्लामी क्रान्ति की सफलता के आरंभ से इस्लामी गणतंत्र ईरान से सऊदी अरब की दुश्मनी का उल्लेख करते हुए कहा कि सऊदी प्रतिरोध के मोर्चे के दुश्मन थे और हैं।
उन्होंने इराक़ और सीरिया में तकफ़ीरी आतंकवादी गुट दाइश के अपराधों की ओर इशारा करते हुए कहा कि जो कुछ दाइश ने इराक़ और सीरिया में किया है वह अमरीका, सऊदी अरब और क्षेत्र की सरकारों के समर्थन से किया है।
लेबनान के हिज़्बुल्लाह संगठन के प्रमुख ने ज़ायोनी शासन के हमलों को लेबनान और फ़िलिस्तीन के प्रतिरोध संगठनों के हालिया जवाब का उल्लेख करते हुए कहा कि अब लड़ाई बदल चुकी है और प्रतिरोध अतिक्रमण का मुंहतोड़ जवाब देता है।
उन्होंने कहा कि इस्राईली पहले हमले की हातल में रहते थे, अब बचाव की हालत में आ गए हैं

Post a Comment

Previous Post Next Post