ईरान से कम नहीं होगा हमारा हमला. इराक


ईरान से  कम नहीं होगा हमारा हमला. इराक 








बगदाद. अमेरिकी (America) हवाई हमले में ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी (Qasem Soleimani) की मौत के बाद दोनों देशों में तनाव बढ़ा हुआ है. ईरान ने बुधवार को अमेरिकी एयरबेस पर मिसाइल दाग कर 80 से ज्यादा अमेरिकी सैनिकों मारा गिराया. ईरान (Iran) के हमले के बाद अब इराक (Iraq) ने अमेरिका पर हमले चेतावनी दी है. इराक ने कहा कि उसका हमला ईरान से कम नहीं होगा.

इराक के हशद अल शाबी अर्द्धसैन्य नेटवर्क के एक शीर्ष कमांडर ने बुधवार को कहा कि अमेरिकी हमले में उसके सेना उप प्रमुख के मारे जाने के बाद अब ‘इराक की ओर से जवाब’ देने का समय आ गया है. कट्टरपंथी हशद के कमांडर कैश अल खजाली ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘यह जवाब ईरानी जवाब से कुछ कम नहीं होगा. इसका वादा है.’

मारे गए 80 अमेरिकी सैनिक
ईरान ने पिछले सप्ताह अमेरिकी ड्रोन हमले के जवाब में बुधवार तड़के अमेरिकी सैनिकों के इराकी ठिकाने पर मिसाइलें दागी.  ईरान प्रेस टीवी की रिपोर्ट मुताबिक, इस मिसाइल अटैक में अमेरिका के 80 सैनिकों की मौत हो गई, जबकि 200 से भी ज्यादा बुरी तरह घायल हो गए. हालांकि, ईरान के इन दावों की अमेरिका ने अभी तक कोई पुष्टि नहीं की है.

ईरान बोला- अभी ये शुरूआत
ईरान के विदेश मंत्री मोहम्मद जावेद जरीफ ने कहा, 'यह तो अभी शुरुआत है, हमने यह कदम सिर्फ अपनी आत्मरक्षा के लिए उठाया है. अमेरिका ने अगर कोई भी कार्रवाई की तो हम और बड़ा हमला कर सकते हैं.' ईरान के सरकारी टेलीविजन ने कहा कि ये हमले अमेरिका के ड्रोन हमले में शुक्रवार को ईरानी सेना के कमांडर जनरल कासिम सुलेमानी के मारे जाने का बदला लेने के लिए किए गए. सुलेमानी को मारने का आदेश अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने दिया था.

ईरान ने दांगी 22 मिसाइलें
आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट के खिलाफ अंतरराष्ट्रीय गठबंधन के हिस्से के रूप में लगभग पांच हजार अमेरिकी सैनिक इराक में तैनात हैं. इराकी सेना ने एक बयान में कहा कि अमेरिकी सैन्य ठिकानों पर कुल 22 मिसाइलें गिरीं, लेकिन इराकी बलों का कोई कर्मी हताहत नहीं हुआ है.

ट्रंप बोले- ऑल इज वेल
ईरान के मिसाइल हमलों के कुछ देर बाद  अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ट्वीट किया, ‘‘सब ठीक है. इराक स्थित दो सैन्य (अमेरिकी) ठिकानों पर ईरान से मिसाइलें दागी गईं. नुकसान और हताहत होने का आकलन किया जा रहा है. अब तक सब ठीक है. दुनिया में कहीं भी हमारे पास सर्वाधिक शक्तिशाली और सर्वसाधनयुक्त सेना है. मैं कल सुबह बयान दूंगा.’

‘अमेरिका के मुंह पर तमाचा’
ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खमनेई ने कहा कि हमले अमेरिका के ‘चेहरे पर तमाचा’ हैं. उन्होंने सरकारी टेलीविजन पर प्रसारित भाषण में कहा, ‘‘कल रात, चेहरे पर एक तमाचा लगा.’ खामनेई के बयान के बाद ईरानी सेना ने भी एक बयान जारी कर कहा है कि अगर अमेरिकी सेना हमारे मिसाइल हमले का जवाब देने की कोशिश भी की तो हम एक और बड़ा हमला करने से पीछे नहीं हटेंगे

Post a Comment

Previous Post Next Post