100 पे लॉक डाउन 1000 पे ट्रैन चालू


 


लखनऊ ,संवाददाता | जिस समय उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस ने अपने पाँव भी ठीक से नहीं पसारे थे उस समय उत्तर प्रदेश सरकार ने उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉक डाउन लगाया था | हालांकि उस समय मुंबई और दिल्ली में कोरोना के मामले में सबसे आगे चल रहे थे | ऐसे समय में उत्तर प्रदेश में कोरोना के 50 से 100 मरीज़ ही आ रहे थे | लेकिन आज जब कोरोना वायरस उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आस्तीन से बाहर है | उस समय लॉकडाउन खोलना कहां तक उचित था ? इसका जवाब प्रदेश सरकार हाईकोर्ट को भी नहीं दे सकी |उस समय उत्तर प्रदेश में लॉक डाउन लगाकर सरकार ने बड़ा सराहनीय कार्य किया था | जिसके कारण कहीं ना कहीं कोरोना की चेन टूटी थी और कोरोना पर अंकुश लगा था | लेकिन इधर पिछले कई दिनों का अगर आंकलन किया जाए तो कोरोना वायरस ने लोगों को बहुत तेजी से अपनी गिरफ्त में लिया है | लखनऊ में कल ही कोरोना वायरस ने अपने ही सभी पिछले रिकार्ड तोड़ते हुए 1006 लोगों को अपना निशाना बनाया था और आज भीकोरोना ने 999 लोगों को संक्रमित किया है | ऐसे समय में मेट्रो का फिर से चलाया जाना कहां तक उचित होगा ?

बहरहाल लखनऊ में 7 सितंबर सुबह 6:00 बजे से मेट्रो चलना शुरू हो जाएगी | यूपी मेट्रो रेल कारपोरेशन इस अभियान के तहत तैयारियों में जुटा हुआ है | एमडी कुमार केशव ने शुक्रवार को खुद मेट्रो स्टेशनों का निरीक्षण किया है लखनऊ मेट्रो का 6 सितंबर को दूसरे दिन भी ट्रायल जारी रहा | इस दौरान सिग्नल संचालन से जुड़े अधिकारी द्वारा मेट्रो का तकनीकी परीक्षण किया जा रहा है |
मेट्रो के लिए बताया गया है कि हर 5:30 मिनट में यात्रियों को मेट्रो मिलेगी | यात्रियों को मेट्रो के लिए लंबे समय तक इंतजार नहीं करना होगा | मेट्रो में जहाँ करीब 100 यात्री ही बैठ सकेंगे वहीँ कुल मेट्रो में 40 फ़ीसदी यात्री सफर कर सकेंगे | सफर से पहले यात्रियों को इंट्री गेट पर अपनी थर्मल स्कैनिंग करवानी होगी ,साथ ही सैनिटाइजेशन करवाने और आरोग्य सेतु एप दिखाकर ही प्रवेश मिलेगा | एमडी ने यात्रियों को सलाह दी है कि अगर वो स्मार्ट कार्ड का प्रयोग करें तो बेहतर साबित होगा , इसमें हर सफर पर 10 फीसद छूट का लाभ 

1 Comments

Previous Post Next Post