एटमि संघी मे सऊदी अरब की आमद ईरान को बर्दाश्त नहीं

 एटमि संघी मे सऊदी अरब की आमद    ईरान को बर्दाश्त नही


ईरानी वज़ीरे  खारजा के मुताबिक़ एटमि मोहायेदा की सलामती कोंसिल की क़रार दाद 1322 मे इक आलमी पैमाने पे. किया गया मोहायेदा है जिसमे शामिल मुल्क मे इज़ाफे और इन्हे तब्दील करने का सवाल ही नहीं है,



फ्रांस से अपने असलहा की बैचने के सम्बंध मे फिर से गौर करने को कहा
तहरान ईरान ने आलमी एटमि मोहयदा में सऊदी अरब को शामिल करने की फ्रांस सदर ईमा नोयल माइक्रो की इक तजवीद को नज़रअंदाज़ कर दिया, और कहा की इसमें ने कमी की जा सकती है ने ज़्यादती,
याद रहे की ईरान की एटमि प्रोग्राम को कम करने के लिए दुन्या की सुपर पावर मुल्क, अमेरिका, रूस, चीन, फ्रांस, और जर्मनी के 2915 को इक संघी की थी, लेकिन अमेरिका के सदर ने इक संघी को निरस्त कर दिया, और ईरान मे सख्त पाबंदी लगा दी, पाबंदीओ के बाद ईरान ने अपना एटमि प्रोग्राम को आहे बढ़ाना शुरू कर दिया है,

Post a Comment

Previous Post Next Post