20 साल बाद रिहा हुए फिलिस्तीनी शहरी कुछ चंद घंटों बाद इसराइल की फ़ौज ने फिर से गिरफ्तार किया

 20 साल बाद रिहा हुए फिलिस्तीनी शहरी कुछ चंद घंटों बाद इसराइल की फ़ौज ने फिर से गिरफ्तार किया



 सारी दुनिया जानती है कि इस राइट अपने फायदे के लिए पुलिस की नींव पर मुसलसल जुल्म और उनके ऊपर झूठे मुकदमे लगा कर उनको कैद में बंद कर दिया जाता है और इसी से सारे नौजवानों पर मुसलसल जुल्म होता रहता है सारी दुनिया जुल्म को दे देख कर भी खामोश है आपको मालूम होना चाहिए कि इसराइल ने बहुत सारी फिलिस्तीन की जमीनों को हड़प लिया है बेगुनाह बेकसूर मजबूर लोगों के मकान को गिरा कर उनके मकानों को कब्जे में ले लिया और उसके बावजूद उनके घर के जवानों को उठाकर क़ैद कर दिया जाता है इसी सिलसिले से खबर है कि साहूनि फौज बैतूल मुकद्दस से ताल्लुक रखने वाले फिलिस्तीनी मजद बारीर को 20 साल कैद के बाद रिहाई के चंद घंटों बाद दोबारा गिरफ्तार कर लिया गया फिलिस्तीन के मुताबिक मरीज को इसराइली फौज ने मजद बारीर  के मकान पर फिलिस्तीनी शहरी के घर पर छापा मारकर गिरफ्तार कर लिया गया और उसके बाद उन पर जुल्म ढाया गया बच्चों को मारा पीटा गया और असीम मजीद को गिरफ्तार करके ना मालूम जगह पर भेज दिया गया हिलाल अहमद फिलिस्तीन के मुताबिक मस्जिद बरीर की गिरफ्तारी के खिलाफ पुलिस तीनों ने इसराइली फौज के खिलाफ जब आक्रोश जाहिर किया तो काबिल फ़ौज ने प्रदर्शनकारियों पर आंसू गैस की फील्डिंग और धाती गोलियों की फायरिंग की पारीक में कम से कम 12 लोग जख्मी हो गए बिलाल अहमद के मुताबिक जख्मी होने वाले मुताबिक फ़ौरन मेडिकल उपचार के लिए भेज दिया गया दुनिया इसराइल के जुल्म से खूब जानती है

Post a Comment

Previous Post Next Post