सऊदी अरब के एयरबेस पर यमन का हमला, सऊदी गठबंधन का वरिष्ठ कमांडर ढेर,



यमनी सेना के प्रवक्ता यहया सरी ने रविवार की सुबह बताया है कि यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों की एक संयुक्त कार्यवाही में ड्रोन विमानों ने सऊदी अरब की हवाई छावनी "मलिक ख़ालिद" पर हमला किया और यह हमला सटीक निशाने पर लगा।

लगातार उस जंग मे सऊदी को मुँह की खानी पढ़ रही है, जहा इक तरफ सऊदी दुन्या के सामने अपने आप को मज़लूम दिखाने की कोशिश कर ता है वही दूसरी तरफ यमन को चारो तरफ से घेरने की कोशिश जारी रखे हुए है जिसकी वजह से वहा दवा, और गल्ले की काफ़ी कमी है, और बहुत लोग इस मुसीबत मे घिरे है 

समाचार एजेंसी फ़ार्सी की रिपोर्ट के मुताबिक़, यमन की सशस्त्र सेना के प्रवक्ता यहया सरी ने रविवार सुबह तड़के घोषणा की कि, यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों ने ख़मीस मशीत इलाक़े में स्थित सऊदी गठबंधन की सबसे महत्वपूर्ण एयरबेस मलिक ख़ालिद को क़ासिफ़-K2 नामक ड्रोन विमानों से निशाना बनाया है। इस जवाबी कार्यवाही में ड्रोन विमान सटीक तरीक़े से अपने लक्ष्यों को निशाना बनाने में कामयाब हुए हैं। इस बीच यह भी सूचना प्राप्त हुई है कि, मारिब प्रांत में यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों के साथ हुई झड़प में सऊदी गठबंधन का एक वरिष्ठ कमांडर और तकफ़ीरी आतंकवादी गुट दाइश का एक सरग़ना मारा गया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, सऊदी गठबंधन का ब्रिगेडियर जनरल सालेह दरहम अलरेमादी और यमन में आतंकी गुट दाइश के ख़ुफिया विभाग का उप प्रमुख सैफ़ सनआनी मारिब प्रांत में यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों द्वारा चलाए जा रहे सैन्य अभियान के दौरान मारे गए हैं।

इस बीच सूचना मिली है कि दक्षिण यमन के अलज़ाले प्रांत में सऊदी अरब के भाड़े के लड़ाकों द्वारा की जा रही एक साज़िश को यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों ने नाकाम बना दिया है। समाचार चैनल अलमसीरा की रिपोर्ट के मुताबिक़, यमनी सेना के एक अधिकारी ने बताया है कि, दसियों सऊदी एजेंट शनिवार की रात दक्षिण यमन के अलज़ाले प्रांत के अलफ़ाख़िर और हबिया अलअबदी इलाक़े में घुसने का प्रयास कर रहे थे कि यमनी सेना ने स्वयंसेवी बलों के साथ मिलकर सऊदी अरब के भाड़े के लड़ाकों की साज़िश को नाकाम बना दिया। यमनी सेना और स्वयंसेवी बलों की इस कार्यवाही में दसियों सऊदी एजेंट मारे गए और घायल हुए हैं

Post a Comment

Previous Post Next Post