उदघाटन के बाद हर 36 घंटे के बाद ही अस्पताल की फालिस सीलिंग गिर गई

 उदघाटन के बाद हर 36 घंटे के बाद ही अस्पताल की फालिस सीलिंग गिर गई



वाराणसी 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया नोडल रिव्यू का उद्घाटन, कम नहीं हुई ओपीडी, प्रशासनिक मामलों को छिपाने में जुटा

 ओपीडी सात जुलाई से शु

 एम या विंग ओपीडी में

 एक तेज छत गिर गई।  सौभाग्य से रात का समय था,

 एमएचसी विंग पीएचयू में ओपीडी सर्वोलर

 मौके पर कोई मरीज या कर्मचारी मौजूद नहीं था।  गुरुवार को मंत्री

 जुलाई में शुरू हुई थी और अब ओपीडी भी शुरू हो गई है

 इस रंग का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया।  लेकिन r

 एमसीएच विंग के उद्घाटन पर नहीं

 कुछ ही घंटों में इसके निर्माण का पर्दाफाश हो गया।  अब प्रशासन

 विनार को जुलाई में ओपीडी शुरू करनी थी।  म।

 अपनी कमियों को छुपाने में लगी है।  अस्पताल केएम

 प्रो. केके गीता ने कहा कि वर्तमान में ओपीडी

 प्रोफेसर केके गुप्ता का कहना है कि फास्ट सीलिंग नहीं गिरी

 यह शुरू नहीं हुआ है और अब एमएस कहते हैं कि ओपीडी

 बल्कि ठंडा था।  रुपये की लागत से

 इसकी शुरुआत जुलाई से होगी।

 प्रधानमंत्री मोदी

 जब उनसे पूछा जाता था तो केबल आदि ले जाते थे

 इस अस्पताल के

 7 जुलाई को पीईओ में बैठक के बाद निरीक्षण किया।  ऐनी

 कारीगर मरम्मत करते हैं

 जब इसे खोला गया तो छत क्यों टूट कर गिर गई?

 निरीक्षण के लिए डांग में एमसी के हर कोने की जाँच करें

 कुछ नहीं किया और जवाब दिया कि सब कुछ सही था

 हो गया।  फिर भी नवनिर्मित भवन के उद्घाटन के अगले दिन ओपीडी 8 जुलाई से शुरू होने वाली है। ओपीडी 8 जुलाई से शुरू होगी।

 किया जा रहा है  बीएमसीएच विंग के साथ

 छत का गिरना कई सवाल खड़े कर रहा है।  वह बात कर रहा था।  एमएम प्रोफेसर केके गुप्ता ने बताया कि एफएमएस प्रोफेसर केके गुप्ता ने कहा कि सेलिंग एलएमसीएन विंग में किसी के भी आने-जाने पर रोक लगा दी गई है.

 अभी ओपीडी शुरू भी नहीं हुई है।एमसीएन विंगमैन.. नकली ओपीडी शुरू नहीं हुई है और अब एमएस ने कुछ नहीं कहा लेकिन टेलीफोन और इंटरनेट खोल दिया गया है।

Post a Comment

Previous Post Next Post